Monday , December 18 2017
Home / आयुर्वेदिक उपचार / जुकाम के घरेलू उपाय Jukam Ayurvedic Treatment in Hindi

जुकाम के घरेलू उपाय Jukam Ayurvedic Treatment in Hindi

जुकाम के घरेलू उपाय Jukam Ayurvedic Treatment

जुकाम के घरेलू उपाय Jukam Ayurvedic Treatment in Hindi
जुकाम के घरेलू उपाय Jukam Ayurvedic Treatment in Hindi

जुकाम का कारण :

Jukam में नाक की श्लेमकला सूज जाने से नाक बंद हो जाती है या बहने लगती है | नाक के साथ साथ गले में भी हलकी सूजन रहती है |

जुकाम गर्मी को छोड़कर बाकी सीझन में अधिक होता है | बालको में अपेक्षाकृत अधिक होता है | सीझन बदलले के समय जब शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति कम होती है ,जुकाम का वाइरस शरीर पर हमला करता है | रोगियों के छींकने ,खासने ,थूकने ,हाथ मिलाने से यह रोग अन्य स्वस्थ व्यक्तियों को भी जकड़ लेता है | जो व्यक्ति पहले ही अजीर्ण ,कब्ज आदि रोगों से पीड़ित हो या  जिसे ठंड लग गई हो या जिन्हें धूल ,धुए आदि से एलर्जी हो ,उन्हें यह रोग जल्दी –जल्दी और ज्यादा होता है |

जुकाम के लक्षण : 

नाक बंद हो जाती है या बहने लगती है | नाक में खुजली होती है ,गले में दर्द व् शुष्कता का अनुभव होता है | छींके आती है ,जो नाक बहना शुरू होने के बाद कम हो जाती है | खाँसी शुरू हो जाती है |

जुकाम के घरेलू उपाय : Jukam Ayurvedic Treatment in Hindi

  • तुलसी :

तुलसी के सूखे पत्तो का क्वाथ बनाकर नस्य ले |

  • इमली :

इमली  के पत्तो का काढ़ा बनाकर चार-चार चम्मच दिन में दो बार ले |

रात को सोते समय नाक के दोनों छिद्रों में देसी घी लगाए या सरसों के तेल की २-१  बुँदे डाले|

  • सौंठ, काली मिर्च, लौंग का चूर्ण :

यदि जुकाम पक गया हो ,अर्थात नाक से पिला ,दुर्गंधयुक्त स्राव आ रहा हो ,तो सौंठ 4 भाग ,काली मिर्च १ भाग व् लौंग १ भाग का चूर्ण बनाकर चाय में उबालकर पिए |

  • गुलवनफशा:

तुलसी के पत्ते और गुलवनफशा दो-दो भाग तथा मुलेठी ,दालचीनी ,सौंठ और छोटी इलायची प्रत्येक एक एक-एक भाग लेकर चूर्ण बना ले | तैयार मिश्रण में से एक ग्राम चूर्ण एक कटोरी पानी में उबालकर गरम-गरम पिए |

  • नींबू और नमक :

एक कटोरी उबले हुए पानी में आधा नींबू व् चुटकी भर नमक डालकर सुबह-खाली पेट पिए |

  • दूध :

सुबह-शाम ५-७ खजूर दूध में उबालकर ले |

  • चाय :

तुलसी के पत्ते ,अदरक ,लौंग व् काली मिर्च चाय में उबालकर पिए |

जुकाम के आयुर्वेदिक औषधिया :

त्रिभुवन कीर्ति रस ,नाग गुटिका ,कोषादी वटी ,चित्रक हरीतकी अवलेह |

पेटेंट औषधिया :

त्रिशुन गोलिया ,फ्लुजैक्स गोलिया |

ये भी पढ़े:

खाँसी का इलाज ayurvedic medicine for cough
दमा का घरेलु उपचार Asthma ka ilaj
पेट कम करने के उपाय हिंदी में
loading...

Check Also

चेहरे के दाग धब्बे हटाने के लिए उपाय

चेहरे के दाग धब्बे हटाने के लिए उपाय

चेहरे के दाग धब्बे हटाने के लिए उपाय नमस्कार दोस्तों, आप हमेशा ही नेट पर …

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *